“साहित्य, समाज और मीडिया” अंतर्विषयक एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी 13 नवम्बर, 2019 को गुरुग्राम में

national seminar on literature media and society

राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर-14 ( Gurugram ) और उत्तर प्रदेश भाषा संस्थान ( Lucknow ) के संयुक्त तत्वावधान में “साहित्य, समाज और मीडिया” अंतर्विषयक एक दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 13 नवम्बर, 2019 (बुधवार) को किया जा रहा है। महाविद्यालय के सभागार नं. 42 में ये संगोष्ठी सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक होगी।

इस संगोष्ठी के लिए शोधार्थियों, विषय विशेषज्ञों, व्याख्याताओं से शोध पत्र आमंत्रित किए गए है। शोध पत्र gcgsemhin@gmail.com पर मेल किए जा सकते हैं। शोध पत्र के लिए शब्द सीमा 1500-3000 शब्द है। प्राध्यापक/शोधार्थी/विधार्थी के लिए पंजीकरण शुल्क रुपए 200/- है।

आलेख संबंधित निर्देश:
1.शोध पत्र का सार संक्षेप 4 नवम्बर 2019 तक ईमेल के माध्यम से अवश्य भेज दें।
2.आलेख टंकण कार्य यूनिकोड/ कृतिदेव 10 में करवाएं।
3.चयनित शोध-पत्रों को एक पुस्तक के रूप में (ISBN No. के साथ) प्रकाशित करने की योजना है। जो प्रतिभागी अपने शोध-पत्र प्रकाशित करवाना चाहते हैं, वे अपने सहमति दें।
4.शोध-पत्र के अंत में अपना नाम, घर/कॉलेज का पता (पिनकोड सहित), मोबाइल नंबर, ईमेल अवश्य लिखें।
5.अपने आगमन की सूचना 5 नवम्बर 2019 तक अवश्य दें।
6 प्रतिभागियों को इस महाविद्यालय से किसी प्रकार का दैनिक या यात्रा भत्ता नहीं दिया जाएगा।
7.पंजीकरण के समय अपने शोध-पत्र की हार्ड कॉपी जमा करवानी अनिवार्य है।
7.किसी भी शोध पत्र को गुणवत्ता के स्तर पर स्वीकृत/ अस्वीकृत करने का अधिकार आयोजन समिति का है।


उप विषय:
1.साहित्य और मीडिया
2.हिन्दी साहित्य में मीडिया की भूमिका
3.समाज के उत्थान में साहित्य और मीडिया की भूमिका
4.साहित्य और मीडिया का अंतर्सम्बंध
5.सोशल मीडिया पर अनावश्यक सामग्री
6.सोशल मीडिया और सूचनाओं की विश्वसनीयता
7.मीडिया और साहित्य समाज का आइना है
8.साहित्य और सोशल मीडिया का रिश्ता
9.मीडिया का वर्तमान समाज पर प्रभाव
10.इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से अखबार एवं पर्यावरण का संरक्षण
11.हिन्दी साहित्य के आधुनिक युग के उत्थान में पत्रकारिता का योगदान
12.साहित्य के उत्थान में पत्रकारिता की भूमिका
13.देश के स्वाधीनता आंदोलन में पत्रकारिता की भूमिका
14.भारतीय संस्कृति के विकास में पत्रकारिता का योगदान
15.व्यापार तथा वाणिज्य के विकास में पत्रकारिता की भूमिका
16.औद्योगिकीकरण तथा आधुनिकीकरण के उत्थान में पत्रकारिता का योगदान
17.ट्विटर, व्हाट्स एप, ब्लॉग, इंस्टाग्राम तथा इंटरनेट की साहित्य और समाज में उपादेयता
18.सोशल मीडिया एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रभाव से पठन- पाठन में कमी
19.वैश्वीकरण एवं समाजीकरण के विकास में मीडिया की भूमिका
20.दिव्यांगजन के जीवन में मीडिया की भूमिका
21.नारी सशक्तीकरण एवं दलित विमर्श में मीडिया की भूमिका

इन बिन्दुओं के अतिरिक्त भी किसी मिलते-जुलते विषय पर शोध पत्र/आलेख लिखे जा सकते हैं जो मुख्य विषय से संबंधित हों।

ज्यादा जानकारी के लिए इनसे संपर्क किया जा सकता है –
संगोष्ठी संरक्षक: डॉ. विजय अदलखा, प्राचार्य
संगोष्ठी संयोजिका: डॉ. पुष्पा अंतिल, एसोशियट प्रोफेसर,अध्यक्ष, हिंदी विभाग, M. 9654744800
सहायक संयोजक: डॉ. अमितेश बोकन, सहायक प्रोफेसर, M. 9953903770
आयोजन सचिव : डॉ. अशोक कुमार, सहायक प्रोफेसर, M. 9811108079
उपसचिव: डॉ. सोनिया यादव, सहायक प्रोफेसर, M. 9416382808

Leave a Reply