हिंदी भाषा के प्रचार प्रसार के लिए ‘चिट्ठी आंदोलन’

पूर्वांचल विकास प्रतिष्ठान ने भारतीय भाषा स्वाभिमान आंदोलन के तहत चिट्ठी अभियान चलाने की अपील की है। इसमें हिंदी के वर्तमान हालात पर चिंता जाहिर करते हुए ज्यादा से ज्यादा संख्याम में उत्तरप्रदेश सरकार के उपमुख्यमंत्री और बुनियादी शिक्षा मंत्री को चिट्ठियां लिखने की अपील की गई है। अपील करते हुए कहा गया है कि –

यह बहुत चिंता की बात है कि प्रदेश के प्राथमिक और माध्यमिक सरकारी स्कूलों को हिंदी माध्यम छोड़ कर अंग्रेजी माध्यम अपनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। सरकार खुद भी अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोल रही है, सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों को भी अंग्रेजी माध्यम अपनाने की खुली छूट दे रही है, और सरकारी हाई स्कूल/इंटर कॉलेजों के भवन भी अंग्रेजी माध्यम के स्कूल -कॉलेज चलाने के लिए किराए पर दे रही है।

इससे हिंदी को भारी नुकसान होगा। हमारी संस्कृति पर भी बुरा असर पड़ेगा। हम इस बात का कड़ा विरोध करते हैं। विनती है कि ऐसा करना बंद किया जाए। ये अंग्रेजी और अंग्रेजियत की मानसिकता की एक नई गुलामी है। बेहतर होगा, अच्छी शिक्षा की व्यवस्था कराएं और आधुनिक विषयों की ऊंची पढ़ाई भी हिंदी माध्यम से कराने के प्रबंध करें।

मित्रों, हम सभी की ओर से ये हस्तक्षेप जरूरी है। आप नहीं बोलेंगे तो हमारी हिंदी पर नई अंग्रेजियत का ये जो भीषण संकट आया है, वो हिंदी को और हमें भी साबुत नहीं छोड़ेगा। कृपया जरूर बोलें।
– भारतीय भाषा स्वाभिमान आंदोलन –

Leave a Reply