हिंदी, सिंधी और मराठी भाषा पर राष्ट्रीय संगोष्ठी 18 सितंबर को नानावटी कॉलेज, मुम्बई में

हिंदी, सिंधी और मराठी के विशेष संदर्भ में भाषा साहित्य एवं संस्कृति के तुलनात्मक अध्ययन पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन 18 सितम्बर 2019 को मुम्बई में किया जाएगा। संगोष्ठी का आयोजन मानव संसाधन विकास मंत्रालय, नई दिल्ली के राष्ट्रीय सिंधी भाषा विकास परिषद और मुम्बई के मणिबेन नानावटी महिला महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में होने वाले इस आयोजन का उद्घाटन एस.एन.डी.टी. महिला विश्वविद्यालय, मुंबई की कुलगुरु प्रो. शशिकला वंजारी करेंगी।

संगोष्ठी संयोजक डॉ. रवीन्द्र कात्यायन ने बताया कि सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक होने वाली इस संगोष्ठी में मुंबई के मणिबेन नानावटी महिला महाविद्यालय के गांधी अध्ययन केन्द्र के सहयोग से होने वाली इस संगोष्ठी के लिए इच्छुक प्रतिभागियों से इन विषयों पर शोध आलेख आमंत्रित किए गए हैं –

1. भाषा एवं साहित्य का तुलनात्मक अध्ययन
2. साहित्य एवं संस्कृति का तुलनात्मक अध्ययन
3. हिंदी एवं सिंधी भाषा, साहित्य का तुलनात्मक अध्ययन
4. सिंधी एवं मराठी भाषा, साहित्य का तुलनात्मक अध्ययन
5. हिंदी एवं मराठी भाषा, साहित्य का तुलनात्मक अध्ययन
6. बहुसंस्कृतिवाद एवं भारतीय साहित्य
7. भारत की सांस्कृतिक विभिन्नताएं
8. साहित्यिक विधाएं एवं सांस्कृतिक परिदृश्य
9. तुलनात्मक अध्ययन की नई दिशाएं
10. भारतीय बनाम विदेशी संस्कृति
11. अन्य संबंधित विषय

पंजीकरण शुल्क –
अध्यापक – रुपए 700/-
शोध छात्र – रुपए 300/-

इच्छुक व्यक्ति अपने शोध पत्र और सारांश 15 सितंबर 2019 तक हिंदी, सिंधी या मराठी में मंगल/कृतिदेव फॉन्ट 12 साइज में 4ichss@gmail.com पर भेज सकते हैं। आलेख पाठ हिंदी, सिंधी, मराठी या गुजराती भाषा में किया जा सकता हैं। ज्यादा जानकारी के लिए मोबाइल नंबर +91.9324389238 पर संपर्क कर सकते हैं

Leave a Reply