हिंदी भाषा पर वैश्विक मंथन मॉरीशस में 18-20 अगस्त तक

11वें विश्व हिन्दी सम्मेलन का आयोजन इस वर्ष मॉरिशस में होने जा रहा है। यह तीसरा मौका होगा जबकि मॉरिशस विश्व हिन्दी सम्मेलन की मेजबानी करेगा। इससे पहले दूसरे तथा चौथे विश्व हिन्दी सम्मेलन की मेजबानी वह कर चुका है। यह भी एक सुखद संयोग ही है कि विश्व हिन्दी सम्मेलन का मेजबानी में वह भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर चलता रहा है।

पहला विश्व हिंदी सम्मेलन 1975 में नागपुर, भारत में आयोजित किया गया था। तब से, विश्व के अलग-अलग भागों में, ऐसे 10 सम्मेलनों का आयोजन किया जा चुका है। 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन के लिए विदेश मंत्रालय नोडल मंत्रालय है। व्यवस्थित एवं निर्बाध रूप से सम्मेलन के आयोजन के लिए विभिन्न समितियाँ गठित की गई हैं। सम्मेलन का मुख्य विषय “हिंदी विश्‍व और भारतीय संस्‍कृति” है।

सम्मेलन का आयोजन स्थल “स्वामी विवेकानंद अंतर्राष्ट्रीय सभा केंद्र” पाई, मॉरीशस है। सम्मेलन स्थल पर हिंदी भाषा के विकास से संबंधित कई प्रदर्शनियां लगाई जाएंगी। सम्मेलन के दौरान शाम को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद, नई दिल्ली द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम और कवि सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा।

दैनिक सम्मेलन-समाचार पत्र (सम्मेलन-समाचार), सम्मेलन-स्मारिका और शैक्षिक सत्रों में हुई चर्चाओं और सुझावों के आधार पर एक सम्मेलन रिपोर्ट भी प्रकाशित की जाएगी। विश्व हिंदी सचिवालय, मॉरीशस की सम्मेलन सामग्रियों को तैयार करने और प्रकाशन में महत्वपूर्ण भूमिका होगी। भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद द्वारा “गगनांचल” का विशेष अंक निकाला जाएगा जो सम्मेलन को समर्पित होगा।

परंपरा के अनुरूप सम्मेलन के दौरान भारत एवं अन्य देशों के हिंदी विद्वानों को हिंदी के क्षेत्र में उनके विशेष योगदान के लिए “विश्व हिंदी सम्मान” से सम्मानित किया जाएगा।

11वें विश्व हिंदी सम्मेलन के लिए उपयुक्त “लोगो” के चयन हेतु 60 हजार रुपए की राशि के पुरस्कार के साथ मंत्रालय द्वारा एक “लोगो” डिज़ाइन प्रतियोगिता आयोजित की गई थी। “लोगो” चयन समिति के सहयोग से, सम्मेलन के लिए एक उपयुक्त “लोगो” का चयन किया गया है।

सम्मेलन के लिए एक वेबसाइट https://vishwahindisammelan.gov.in तैयार की गई है और सम्मेलन से संबंधित सभी सूचनाओं के लिए इसे देखा जा सकता है।

श्रीमती सुषमा स्वराज, माननीय विदेश मंत्री, भारत सरकार और श्रीमती लीला देवी दुकन लछुमन, माननीय शिक्षा व मानव संसाधन, तृतीयक शिक्षा एवं वैज्ञानिक अनुसंधान मंत्री, मॉरीशस गणराज्य द्वारा संयुक्त रूप से 10 अप्रैल 2018 को जवाहरलाल नेहरू भवन, विदेश मंत्रालय, नई दिल्ली में 11वें विश्व हिंदी सम्मेलन की वेबसाइट और “लोगो” का लोकार्पण किया गया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *